मसीह के कथन "छुटकारे के युग में कार्य के पीछे की सच्ची कहानी" Jesus' Salvation of the Cross (Hindi)

परिचय

सर्वशक्तिमान परमेश्वर कहते हैं: "अनुग्रह के युग में, मनुष्य पहले से ही शैतान की भ्रष्टता से गुज़र चुका था, और इसलिए समस्त मानवजाति को छुटकारा देने के कार्य हेतु, अनुग्रह की भरमार, अनन्त सहनशीलता और धैर्य, और उससे भी बढ़कर, मानवजाति के पापों का प्रयाश्चित करने के लिए पर्याप्त बलिदान की आवश्यकता थी ताकि इसके प्रभाव तक पहुँचा जा सके।अनुग्रह के युग में मानवजाति ने जो देखा वह मानवजाति के पापों के प्रायश्चित के लिए मेरी भेंट मात्र था, अर्थात्, यीशु। वे केवल इतना ही जानते थे कि परमेश्वर दयावान और सहनशील हो सकता है, और उन्होंने केवल यीशु की दया और करूणामय-प्रेम को देखा था। ऐसा पूरी तरह से इसलिए था क्योंकि वे अनुग्रह के युग में रहते थे।और इसलिए, इससे पहले कि उन्हें छुटकारा दिया जा सके, उन्हें कई प्रकार के अनुग्रह का आनन्द उठाना था जो यीशु ने उन्हें प्रदान किए थे; केवल यही उनके लिए लाभदायक था। इस तरह, उनके द्वारा अनुग्रह का आनन्द उठाने के माध्यम से उन्हें उनके पापों से क्षमा किया जा सकता था, और यीशु की सहनशीलता और धीरज का आनन्द उठाने के माध्यम से उनके पास छुटकारा पाने का एक अवसर भी हो सकता था।"

प्रासंगिक वीडियो

पढ़ना जारी रखें

अधिक उत्कृष्ट सामग्री

प्रभु यीशु का दूसरा आगमन

फ़ीचर पृष्छ देखें

प्रभु के प्रकटन का स्वागत

फ़ीचर पृष्छ देखें

बुद्धिमान कुँवारियाँ दूल्हे का स्वागत करती हैं

फ़ीचर पृष्छ देखें

आपदा के पहले स्वर्गारोहण

फ़ीचर पृष्छ देखें

परमेश्वर में विश्वास वास्तव में क्या है

फ़ीचर पृष्छ देखें

देहधारण: रहस्य का खुलासा (भाग एक)

फ़ीचर पृष्छ देखें

देहधारण: रहस्य का खुलासा (भाग दो)

फ़ीचर पृष्छ देखें

कार्य के तीन चरण

फ़ीचर पृष्छ देखें

न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है

फ़ीचर पृष्छ देखें

बचाया जाना बनाम पूर्ण उद्धार पाना

फ़ीचर पृष्छ देखें