सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

`

पूरा सफ़र तेरे संग

I

कश्ती सा मैं था, भटका समन्दर में।

चुन कर मुझे, तूने राह दी तेरे शरण की।

तेरे परिवार में स्नेह से मुझे शांति मिली।

तू दे आशीष और दे वचन न्याय के।

फिर भी हूँ असमर्थ तेरी दया संजोने में।

अक्सर किया है विद्रोह, दुखाया तेरा दिल।

अनदेखा कर मेरे पापों को मुझे मोक्ष की ओर बढ़ाता।

जाऊँ मै दूर तो ख़तरों से खींच लाता।

करूँ विद्रोह, तो तू छुपे, तम मुझे जकड़ ले।

मैं वापस आऊँ, तू करुणा दे मुझे, हँस के पकड़ ले।

जब शैतान मारे मुझे, तू भर दे ज़ख़्म दिल के मेरे।

हर परीक्षा में तू साथ हो मेरे।

जल्द सुबह आएगी, और फिर से चमकेगा नीला गगन,

जब तुम मेरे साथ हो।

जल्द सुबह आएगी, और फिर से चमकेगा नीला गगन,

जब तुम मेरे साथ हो।

II

तू मेरा जीवन, तू मेरा प्रभु।

साथी तू मेरा, हमेशा रहे साए सा।

इन्सां तू बनना सिखाता है, और देता है जीवन और सच।

तेरे ही साथ भव्यता से भरे मेरा जीवन।

चाहत न कोई रखूं, तेरे नियम से ही चलूँ।

बनूं सच्चा सृजन, लौटूं तेरी ओर।

तेरे वजूद में जी कर, तुझ से कहता हूँ, तेरी सुनता हूँ।

अकेला तुझको छोड़ूंगा न मैं अब।

तेरे साथ में, तूफां का डर नहीं।

जब ढँके रात मुझे, अकेला मैं अब नहीं।

जो तू है मेरे पास, ख़तरा हो या मुश्किल, मैं लड़ूं।

तेरे साथ में, सफ़र होंगे आसां।

मुश्किल भरे रास्ते जो मिलते हैं सफ़र में,

ले जाते हैं ओर सुंदर वसंत की।

जल्द सुबह आएगी, और फिर से चमकेगा नीला गगन,

जब तुम मेरे साथ हो।

तेरे साथ में, तूफां का डर नहीं।

जब ढँके रात मुझे, अकेला मैं अब नहीं।

जो तू है मेरे पास, ख़तरा हो या मुश्किल, मैं लड़ूं।

तेरे साथ में, सफ़र होंगे आसां।

मुश्किल भरे रास्ते जो मिलते हैं सफ़र में,

ले जाते हैं ओर सुंदर वसंत की।

जल्द सुबह आएगी, और फिर से चमकेगा नीला गगन।

मैं तेरे संग हूँ।

"मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना" से

पिछला:परमेश्वर को हमारे सर्वस्व पर अधिकार करने दो

अगला:किसके लिए जीना चाहिए इंसान को

शायद आपको पसंद आये

बुलाए हुए बहुत हैं, परन्तु चुने हुए कुछ ही हैं परमेश्वर सम्पूर्ण मानवजाति के भाग्य का नियन्ता है केवल परमेश्वर के प्रबंधन के मध्य ही मनुष्य बचाया जा सकता है प्रश्न 24: तुम यह प्रमाण देते हो कि प्रभु यीशु पहले से ही सर्वशक्तिमान परमेश्वर के रूप में वापस आ चुका है, कि वह पूरी सच्चाई को अभिव्यक्त करता है जिससे कि लोग शुद्धिकरण प्राप्त कर सकें और बचाए जा सकें, और वर्तमान में वह परमेश्वर के घर से शुरू होने वाले न्याय के कार्य को कर रहा है, लेकिन हम इसे स्वीकार करने की हिम्मत नहीं करते। यह इसलिए है क्योंकि धार्मिक पादरियों और प्राचीन लोगों का हमें बहुधा यह निर्देश है कि परमेश्वर के सभी वचन और कार्य बाइबल में अभिलेखित हैं और बाइबल के बाहर परमेश्वर का कोई और वचन या कार्य नहीं हो सकता है, और यह कि बाइबल के विरुद्ध या उससे परे जाने वाली हर बात विधर्म है। हम इस समस्या को समझ नहीं सकते हैं, तो तुम कृपया इसे हमें समझा दो।