सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

`

है मसीह अंतिम दिनों का अनंत जीवन लेके आया

I

परमेश्वर ख़ुद जीवन और सच्चाई है,

उसका जीवन और सच आपस में गुंथे हुए हैं।

जिसने उसका सच ना पाया, जीवन ना पाया।

बिन उसकी रहनुमाई के, बिन उसकी सच्चाई के,

बस ख़त है, मत है और मानव के पास उसकी मौत है।

प्रभु का जीवन और सच्चाई गुंथे हुए हैं, मौजूद सदा।

नहीं मिलेगा जीवन-पोषण, गर सच्चाई का स्रोत तुम्हें मालूम नहीं।

अंत के दिनों का मसीह जीवन लाता है, जो सदा रहे वो सच लाता है।

जीवन पाना गर इंसां को, जीवन पाना गर इंसां को,

सच के इस पथ पर चलना होगा।

इसी राह पर जाने मानव प्रभु को और पाए अनुमोदन उसका।

II

गर भूल गये जीवन-पथ को, जो अंत समय लाया मसीह,

तो समझो तुमने त्याग दिया, यीशु का वो अनुमोदन भी,

और दूर कर दिया तुमने ख़ुद को जन्नत से।

बन बैठे तारीख़ों के कैदी और कठपुतली तुम।

गर नहीं पाओगे तुम जीवन-विधान, तो नहीं ग्रहण कर पाओगे सच्चाई को।

तुम तो हो केवल विगलित तन, बस खोखले विचार और व्यर्थ के ख्याल।

अंत के दिनों का मसीह जीवन लाता है, जो सदा रहे वो सच लाता है।

जीवन पाना गर इंसां को, जीवन पाना गर इंसां को,

सच के इस पथ पर चलना होगा।

इसी राह पर जाने मानव प्रभु को और पाए अनुमोदन उसका।

III

किताबों के अल्फ़ाज़ कोई जीवन नहीं, इतिहास के अभिलेख सच्चाई नहीं,

पुराने रास्तों की दास्तां भी वो नहीं जो आज कहता है परमेश्वर।

धरती पर और इंसानों के बीच है जो परमेश्वर,

सच्च्चाई का इज़हार बस वो ही करता है।

करता है इज़हार वो मरज़ी प्रभु की, और उसके काम का अंदाज़, काम का अंदाज़।

IV

तारीख़ों की बेड़ियों में जो बंधे हैं, जो घिरे सिद्धांतों से,

नियमों में कैद हैं जो,

पा नहीं सकते वो जीवन या कि उस पथ को जहां है अनंत जीवन।

बस कई हजारों साल का इतिहास उनके पास सिद्धांत है,

ठहरे हुए पानी की तरह,

ये प्रभु के तख़्त से आया जीवन का पानी नहीं है।

जो न पियेंगे ये पानी, होंगे ज़िंदा लाश वो ताउम्र,

और रहेंगे नर्क में, शैतान की करते ग़ुलामी।

अंत के दिनों का मसीह जीवन लाता है, जो सदा रहे वो सच में लाता है।

जीवन पाना गर इंसां को, जीवन पाना गर इंसां को,

सच के इस पथ पर चलना होगा।

इसी राह पर जाने मानव प्रभु को और पाए अनुमोदन उसका।

है मसीह अंतिम दिनों का अनंत जीवन लेके आया।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला:अंतिम दिनों का मसीह लाता है राज्य का युग

अगला:देह और आत्मा का है काम उसी सार का

शायद आपको पसंद आये

परमेश्वर सम्पूर्ण मानवजाति के भाग्य का नियन्ता है प्रश्न 26: बाइबल ईसाई धर्म का अधिनियम है और जो लोग प्रभु में विश्वास करते हैं, उन्होंने दो हजार वर्षों से बाइबल के अनुसार ऐसा विश्वास किया हैं। इसके अलावा, धार्मिक दुनिया में अधिकांश लोग मानते हैं कि बाइबल प्रभु का प्रतिनिधित्व करती है, कि प्रभु में विश्वास बाइबल में विश्वास है, और बाइबल में विश्वास प्रभु में विश्वास है, और यदि कोई बाइबल से भटक जाता है तो उसे विश्वासी नहीं कहा जा सकता। कृपया बताओ, क्या मैं पूछ सकता हूँ कि इस तरीके से प्रभु पर विश्वास करना प्रभु की इच्छा के अनुरूप है या नहीं? केवल परमेश्वर के प्रबंधन के मध्य ही मनुष्य बचाया जा सकता है बुलाए हुए बहुत हैं, परन्तु चुने हुए कुछ ही हैं