सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

137 उस वर्ष की शरद ऋतु

1 उस वर्ष की शरद ऋतु में, उस भयानक रोज़, मेरे मम्मी-पापा मुझसे छीन लिये गए। हल्की-हल्की बूंदाबाँदी हो रही थी कि तभी सीसीपी पुलिस मेरे घर में अचानक घुसी। उनके दुष्ट और ख़ूँखार चेहरे देखकर, मैं मन ही मन परमेश्वर को पुकारने लगी। परमेश्वर हमें विश्वास दें। मैं नहीं चाहती थी कि पुलिस मेरे मम्मी-पापा को गिरफ़्तार करके ले जाए और उन्हें यातना दे। पुलिस ज़बर्दस्ती मम्मी-पापा को हथकड़ी डालकर ले गई और मैं देखती रही। मेरे आँसू बारिश की बूंदों में घुलमिल गए। मेरा दिल चीत्कार उठा: मेरे हँसते-खेलते परिवार को क्यों तोड़ते हो? मेरी ख़ुशियाँ क्यों छीनते हो? मैं दुखी होकर चिल्लाई: शैतानों! मेरे मम्मी-पापा को मत ले जाओ!

2 मैं खिड़की के पास अकेली खड़ी थी, मैं अपने मम्मी-पापा के मुस्कुराते चेहरे को फिर कभी नहीं देख सकती थी। न जाने कितनी बार मैं खड़ी- खड़ी गाँव की ओर जाती सड़कों को निहारती रहती, इस उम्मीद में कि शायद कभी उन्हें देख सकूँ। मेरे पापा ने जेल में न जाने कितनी यातनाएँ सही हैं। क्या मेरी मम्मी अभी भी सकुशल हैं? मैं आप दोनों को जल्दी से देखने के लिये कितनी बेताब हूँ। आप लोग कब घर आ पाएँगे? उनकी बाट जोहते-जोहते आंसुओं से मेरी आँखें धुँधला गईं। कितना कुछ था जो मैं उनसे कहना चाहती थी: मैं अक्सर परमेश्वर से प्रार्थना करती हूँ और उसके वचन पढ़ती हूँ। अब मुझे अंधेरी रातों में न तो अकेलापन महसूस होता है, न मुझे डर लगता है। अब कलीसिया ही मेरा घर है, मैं भाई-बहनों के साथ परमेश्वर के वचनों पर सहभागिता करती हूँ। मैं परमेश्वर के प्रेम की गर्मजोशी को महसूस करती हूँ। मम्मी-पापा, आप लोग मेरी चिंता न करें।

3 इस शरद उत्सव में, रात को आकाश में तारे झिलमिला रहे हैं। मम्मी-पापा को को मुझसे दूर गए सात साल हो गए हैं। मैं परमेश्वर के वचनों को धन्यवाद देती हूँ जिन्होंने मुझे आज तक सहारा दिया है। सत्य को समझकर, अब मेरे अंदर कुछ विवेक है। मैं जान गई हूँ कि सत्तारूढ़ सीसीपी दरअसल सत्तारूढ़ शैतान है। यही पूरी दुनिया में अंधकार की जड़ है। मुझे शैतानी सीसीपी से बेहद नफ़रत है। मैंने अंत तक परमेश्वर का अनुसरण करने का संकल्प लिया है! हालाँकि मैं अपने माँ-बाप के प्यार से वंचित हूँ, फिर भी मैं परमेश्वर पर भरोसा करके अडिग रहूँगी। मैं न एकाकी हूँ, न अकेली हूँ, क्योंकि मेरे साथ परमेश्वर के वचन हैं, मेरे साथ परमेश्वर है। परमेश्वर ने जीवन भर मुझ पर निगाह रखी है, उसके वचन पलने-बढ़ने में मेरा मार्गदर्शन करते हैं। मैंने परमेश्वर के वचनों का भरपूर आनंद लिया है। मैं उसके प्रेम के प्रतिदान के लिये अपना कर्तव्य निभाना चाहती हूँ।

पिछला:केवल सत्य की तलाश ही जीवन ला सकती है

अगला:मैं परमेश्वर के प्रति पूर्णत: समर्पित रहने के लिये संकल्पित हूँ

सम्बंधित मीडिया

  • प्रभु यीशु का अनुकरण करो

    I पूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने, हर इंसान के छुटकारे के काम को, क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की, इसमें न उसका स्वार्थ था, न योजना…

  • परमेश्वर इंसान के सच्चे विश्वास की आशा करता है

    I इंसान के लिए परमेश्वर के हमेशा रहते हैं सख्त मानक। अगर तुम्हारी वफ़ादारी है सशर्त, उसे चाहिए नहीं तुम्हारा तथाकथित विश्वास। परमेश्वर को है नफ़रत उ…

  • स्वयं परमेश्वर की पहचान और पदवी

    I हर चीज़ पर जो राज करे वो परमेश्वर है, हर चीज़ का जो संचालन करे वो परमेश्वर है। हर चीज़ बनाई उसने, हर चीज़ का वो संचालन करता है। हर चीज़ पर वो राज करता …

  • देहधारी परमेश्वर को किसने जाना है

    I चूँकि हो तुम एक नागरिक परमेश्वर के घराने के, चूँकि हो तुम निष्ठावान परमेश्वर के राज्य में, फिर जो कुछ भी तुम करते हो उसे जरूर खरा उतरना चाहिए परमेश्…

वचन देह में प्रकट होता है अंत के दिनों के मसीह के कथन (संकलन) मेमने ने पुस्तक को खोला न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है सर्वशक्तिमान परमेश्वर, अंतिम दिनों के मसीह, के उत्कृष्ट वचन राज्य के सुसमाचार पर सर्वशक्तिमान परमेश्वर के उत्कृष्ट वचन -संकलन मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ राज्य के सुसमाचार पर उत्कृष्ट प्रश्न और उत्तर (संकलन) परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) विजेताओं की गवाहियाँ मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप