सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

धर्मोपदेश और संगति: विजेताओं के लिए परमेश्वर के वादे और आशीष

40

यदि परमेश्वर में विश्वास करने वाले किसी व्यक्ति ने शुद्धिकरण प्राप्त कर लिया है, अपने जीवन स्वभाव में बदल गया है, परमेश्वर को जान लिया है और परमेश्वर के समान मन वाला बन गया है, तो इसका अर्थ है कि उसने जीवन और सत्य को पा लिया है। तो इस व्यक्ति के लिए परिणाम क्या है? परमेश्वर के राज्य में उसके लिए एक स्थान है। मसीह का राज्य कैसे बनता है? यह अंत के दिनों में न्याय के परमेश्वर के कार्य का परिणाम है। अंत के दिनों में न्याय का परमेश्वर का कार्य लोगों के एक समूह को शुद्ध करेगा; यह उन्हें सिद्ध बनाएगा। ये लोग मसीह के राज्य में सर्वोच्च शासन करेंगे। परमेश्वर के वचनों में एक वाक्य है जो कहता है, "'सिनिम' के सभी लोग राजा हैं।" क्या परमेश्वर ने यह नहीं कहा था? "सिनिम" किस देश को संदर्भित करता है? चीन। इस्राएली चीन का उल्लेख "सिनिम" के रूप में करते हैं। "सिनिम के लोग" विजेताओं का एक समूह है जिसे परमेश्वर चीन में बनाता है। ये विजेता परमेश्वर के सहस्राब्दि राज्य में सर्वोच्च शासन करेंगे। यद्यपि परमेश्वर के वचन अपने आप में यह नहीं कहते हैं, किन्तु यही उसके कहने का अर्थ है। कुछ लोग पूछ सकते हैं, "क्या आप यह कह रहे हैं कि अंत के दिनों में, परमेश्वर केवल चीन में अपना कार्य करता है? अन्य देशों के लोगों द्वारा परमेश्वर के कार्य को स्वीकार करने के पहले ही यह समाप्त हो जाएगा? फिर, मुझे लगता है अन्य देशों में लोग जीवित नहीं बचेंगे।" ऐसा नहीं है। चीन में लोगों के एक समूह को पूर्ण बनाने का कार्य परमेश्वर के घर से शुरू होने वाले न्याय का कार्य है। वे कार्य के इस चरण के माध्यम से बनाए गए विजेता, आगामी युग के राजा हैं। जहाँ तक अन्य देशों से परमेश्वर के लोगों, सहस्राब्दि राज्य के लोगों की बात है, वे सिद्ध बनाए जाएँगे और आपदा में परमेश्वर के पास लौट जाएँगे। जो लोग चीन में परमेश्वर के न्याय का अनुभव करते हैं वे राजाओं के रूप में शासन करेंगे। वे परमेश्वर की इच्छा के अनुसार शासन करेंगे। जो लोग महान आपदा के दौरान परमेश्वर को स्वीकार करते हैं वे भिन्न होते हैं; उनकी एक अलग प्रतिष्ठा और स्थिति होती है। वे राज्य के सिर्फ़ साधारण लोग हो सकते हैं। इसलिए, जो लोग चीन में परमेश्वर के कार्य के इस चरण को स्वीकार करते हैं, विशेष रूप से जिन्हें बड़े लाल अजगर द्वारा प्रताड़ित किया गया है, किन्तु अंत तक परमेश्वर के प्रति वफादार रहते हैं, वे विजेता होंगे। वे राज्य के युग के दौरान परमेश्वर के राज्य में शासन करेंगे। अगले युग में, चीनी लोग राज्य पर राजाओं के रूप में शासन करेंगे। यह निश्चित है, क्योंकि वे मसीह को स्वीकार करने वाले पहले हैं और आपदा से पहले सिद्ध बनाए जाते हैं। वे अन्य देशों के लोगों की तुलना में अधिक योग्य हैं। इसके अलावा, वे सभी जिन्हें अंत के दिनों में परमेश्वर द्वारा पूर्वनियत किया और चुना गया है चीन में पैदा हुए थे; वे कार्य के इस चरण को स्वीकार करने वाले पहले व्यक्ति हैं। इसलिए, जो चीनी लोग अंत के दिनों में सर्वशक्तिमान परमेश्वर के कार्य को स्वीकार करते हैं, विशेष रूप से वे जिन्हें बड़े अजगर द्वारा प्रताड़ित किया गया है किन्तु अंत तक अनुसरण कर सकते हैं, सर्वाधिक धन्य होंगे। परमेश्वर को स्वीकार करने वाले विदेशियों को ये आशीष नहीं मिलेंगे, क्योंकि उन्होंने इतनी अधिक पीड़ा नहीं भुगती है। यह परमेश्वर द्वारा नियत किया गया है। मसीह का राज्य उन लोगों के समूह की वजह से सृजित होता जिन्हें अंत के दिनों के दौरान न्याय के परमेश्वर के कार्य द्वारा पूर्ण बनाया जाता है। मसीह का राज्य कैसे सृजित होता है? कैसे यह स्थापित होता है? यह अंत के दिनों में परमेश्वर के कार्य से सृजित होता है। यही वह है जो अंत के दिनों में परमेश्वर के कार्य से प्राप्त किया जाता है। अंत के दिनों में परमेश्वर के कार्य का क्रिस्टलीकरण मसीह के राज्य का सृजन है। यदि आप अंत के दिनों में मसीह के न्याय को स्वीकार नहीं करते हैं, तो उसके राज्य में आपका कोई स्थान नहीं होगा। इतनी सरल सी बात है। यह बिल्कुल ऐसा ही है। देखें कि प्रकाशितवाक्य की किताब में क्या दर्ज किया गया है: न्याय किए जाने के बाद बड़ी विपत्तियों में से विजेताओं का एक समूह उभरेगा। तब मसीह का राज्य अस्तित्व में आएगा, और इसके सृजन के 1,000 वर्ष बाद, नया स्वर्ग और नई पृथ्वी उभरेगी। मानवजाति के बीच परमेश्वर का तम्बू स्थापित किया जाएगा। ये सभी वचन पूरे हो जाएँगे। अंत के दिनों में परमेश्वर के कार्य के माध्यम से बनाए गए विजेताओं के समूह से मसीह का राज्य सृजित किया जाएगा। परमेश्वर के लोग, राज्य के लोग, महान आपदा के माध्यम से सिद्ध बनाए जाते हैं। राजाओं के रूप में शासन करने वालों के बिना, क्या राज्य अस्तित्व में हो सकता है? वे कहाँ से आएँगे? उनमें से जिन्हें आपदा से पहले सिद्ध बनाया जाता है। इन लोगों ने बड़े लाल अजगर के क्रूर उत्पीड़न का अनुभव किया है और ये अंत में सर्वाधिक आशीष प्राप्त करेंगे। यह परमेश्वर द्वारा नियत किया गया है। यह सब परमेश्वर के वचनों के अनुसार है!

जीवन में प्रवेश पर धर्मोपदेश और संगति से (श्रृंखला 138)

सम्बंधित मीडिया