सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

रोक नहीं सकता कोई परमेश्वर के काम को

I

रोक नहीं सकता कोई परमेश्वर के काम को।

जब वादा किया इब्राहिम को पुत्र होगा परमेश्वर ने,

तो नामुमकिन जानकर मज़ाक समझा परमेश्वर के वादे को उसने।

इंसान क्या करता है, क्या सोचता है, लेना-देना नहीं परमेश्वर को उससे।

हर काम होता है परमेश्वर के समय और योजना से;

है यही नियम काम का उसके।

परमेश्वर की योजना बेअसर है चीज़ों से, इंसान से।

सबकुछ समय पर प्रारूप के अनुसार होगा।

रोक नहीं सकता कभी कोई परमेश्वर के काम को।

रोक नहीं सकता कभी कोई परमेश्वर के काम को।

II

इंसान के ख़्यालों में न तो दख़लंदाज़ी करता है परमेश्वर,

मानता नहीं, समझता नहीं इंसान,

इसलिये न ही अपनी योजना या काम का त्याग करता है परमेश्वर।

काम वैसे ही होते हैं जैसे सोचता, योजना बनाता है परमेश्वर।

हम देखते हैं जैसा बाइबल में, इसहाक के जन्म को चुना परमेश्वर ने।

परमेश्वर की योजना बेअसर है चीज़ों से, इंसान से।

सबकुछ समय पर प्रारूप के अनुसार होगा।

रोक नहीं सकता कभी कोई परमेश्वर के काम को।

रोक नहीं सकता कभी कोई परमेश्वर के काम को।

III

इंसान का बर्ताव और आचरण, उसकी तुच्छ आस्था और धारणा,

क्या रोक पाई, असर डाल पाई परमेश्वर के काम पर?

इंसान की बेवकूफी की, विरोध और राय की, परवाह नहीं करता परमेश्वर।

जो करना है उसे वही करता है परमेश्वर।

परमेश्वर का स्वभाव, उसकी सर्वोच्चता यही है।

परमेश्वर की योजना बेअसर है चीज़ों से, इंसान से।

सबकुछ समय पर प्रारूप के अनुसार होगा।

रोक नहीं सकता कभी कोई परमेश्वर के काम को...

रोक नहीं सकता कभी कोई परमेश्वर के काम को।

रोक नहीं सकता कभी कोई परमेश्वर के काम को।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला:यातनाओं के दौरान सिर्फ़ विजयी लोग अडिग रहते हैं

अगला:परमेश्वर के वचनों को जो संजोते हैं वे धन्य हैं

शायद आपको पसंद आये