उत्पीड़न और आपदा ने पनपने में मेरी सहायता की

बाइतुओ डेझोउ शहर, शैंडॉन्ग प्रांत पहले, मैं सिर्फ इतना ही जानती थी कि परमेश्वर की बुद्धि का प्रयोग शैतान की साज़िश के आधार पर किया जाता था, यह कि परमेश्वर बुद्धिमान परमेश्वर है और यह कि शैतान सिद्धांत रूप से हमेशा ही …

2017-12-21 14:45:53

पथभ्रष्ट होकर फिर से सन्मार्ग पर वापस आना

1997 मेँ, मैंने सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अंत के दिनों के कार्य को स्वीकार किया था, और जल्दी ही मैंने पूरे उत्साह के साथ अपने आपको धर्म प्रचार के कार्य में झोंक दिया,

2017-12-20 06:45:53

दुनिया के अंधकार और बुराई के स्रोत के बारे में एक संक्षिप्त वार्ता

जब मैं स्कूल में ही थी, तब मेरे पिता बीमार हो गए और उनका देहांत हो गया।

2017-12-21 11:45:53

मेरे जीवन सिद्धांतों ने मेरा अहित किया

चैंगकाई बेंग्ज़ी शहर, लियाओनिंग प्रांत एक सामान्य वाक्यांश "अच्छे लोग सबसे पीछे रह जाते हैं", ऐसी बात है जिससे मैं निजी रूप से बेहद परिचित हूँ। मैं और मेरा पति विशेष रूप से निष्कपट लोग थे: जब ऐसे मामलों की बात आती जि…

2017-12-21 21:45:53

तथाकथित अच्‍छे व्‍यक्ति का असली चेहरा

अपने मन में, मैं हमेशा स्वयं को एक अच्‍छी मानवता वाली व्‍यक्ति समझती थी।

2017-12-22 00:45:53

उत्पीड़न और आपदा ने पनपने में मेरी सहायता की

बाइतुओ डेझोउ शहर, शैंडॉन्ग प्रांत पहले, मैं सिर्फ इतना ही जानती थी कि परमेश्वर की बुद्धि का प्रयोग शैतान की साज़िश के आधार पर किया जाता था, यह कि परमेश्वर बुद्धिमान परमेश्वर है और यह कि शैतान सिद्धांत रूप से हमेशा ही …

2017-12-21 14:45:53

पथभ्रष्ट होकर फिर से सन्मार्ग पर वापस आना

1997 मेँ, मैंने सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अंत के दिनों के कार्य को स्वीकार किया था, और जल्दी ही मैंने पूरे उत्साह के साथ अपने आपको धर्म प्रचार के कार्य में झोंक दिया,

2017-12-20 06:45:53

दुनिया के अंधकार और बुराई के स्रोत के बारे में एक संक्षिप्त वार्ता

जब मैं स्कूल में ही थी, तब मेरे पिता बीमार हो गए और उनका देहांत हो गया।

2017-12-21 11:45:53

मेरे जीवन सिद्धांतों ने मेरा अहित किया

चैंगकाई बेंग्ज़ी शहर, लियाओनिंग प्रांत एक सामान्य वाक्यांश "अच्छे लोग सबसे पीछे रह जाते हैं", ऐसी बात है जिससे मैं निजी रूप से बेहद परिचित हूँ। मैं और मेरा पति विशेष रूप से निष्कपट लोग थे: जब ऐसे मामलों की बात आती जि…

2017-12-21 21:45:53

तथाकथित अच्‍छे व्‍यक्ति का असली चेहरा

अपने मन में, मैं हमेशा स्वयं को एक अच्‍छी मानवता वाली व्‍यक्ति समझती थी।

2017-12-22 00:45:53