सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

`

देहधारी परमेश्वर नहीं कोई आम इंसान

I

देहधारी परमेश्वर नहीं कोई आम इंसान।

अंत के दिनों में परमेश्वर का कार्य

किया जाता है पूरा इस आम इंसान के ज़रिए।

वो अर्पित करे तुम्हारे लिए सब कुछ;

उसके हाथों की हथेली में है तुम्हारा सब कुछ।

क्या इस तरह का इंसान जैसा मानते हो तुम लोग

हो सकता है उल्लेख के लिए बहुत ही सरल?

क्या उसकी सच्चाई तुम्हें यक़ीन दिलवाने के लिए काफ़ी नहीं?

क्या उसकी सच्चाई तुम्हें यक़ीन दिलवाने के लिए काफ़ी नहीं?

II

अंत के दिनों में परमेश्वर का कार्य

किया जाता है पूरा इस आम इंसान के ज़रिए।

जो सच प्रकट करता है वो,

क्यों नहीं तुम लोगों को मिलते उसमें परमेश्वर के कार्य के निशां?

उसकी दिखाई राह क्या तुम लोगों के चलने के लायक नहीं?

क्यों ठुकराते हो, नज़र बचाते हो उससे?

क्या उसके कार्य नहीं करते तुम लोगों की आँखों को संतुष्ट?

क्या उसके कार्य नहीं करते तुम लोगों की आँखों को संतुष्ट?

III

अंत के दिनों में परमेश्वर का कार्य

किया जाता है पूरा इस आम इंसान के ज़रिए।

वो अर्पित करे तुम्हारे लिए सब कुछ;

उसके हाथों की हथेली में है तुम्हारा सब कुछ।

वो व्यक्त और प्रदान करता है सत्य;

एक राह है तुम लोगों के चलने के लिए

इसका कारण है सिर्फ़ और सिर्फ़ ये इंसान।

देहधारी परमेश्वर कोई आम इंसान नहीं।

नहीं, वो नहीं। कोई आम इंसान नहीं।

नहीं, वो नहीं। कोई आम इंसान नहीं।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला:केवल सृष्टिकर्ता मानवता पर दया करता है

अगला:देहधारी परमेश्वर मानव जाति को नये युग में ले जाते हैं

शायद आपको पसंद आये