सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

45 देहधारी परमेश्वर मानव जाति को नये युग में ले जाते हैं

देह-धारी प्रभु करते हैं अंत उस युग का,

जहां मानवजाति ने कभी न देखा यहोवा का चेहरा।

करते हैं प्रभु अंत उस युग का, जहां मानव का अज्ञात प्रभु में रहा विश्वास।

अंतिम देहधारी प्रभु का काम रहा (काम रहा)

लाना मानव को ज़्यादा सच्चे, व्यावहारिक, और सुहाने युग में।

देह-धारी प्रभु,

करते हैं न केवल अंत व्यवस्था और सिद्धांत के युग का;

करते हैं उजागर जग के सम्मुख ऐसे परमेश्वर को

जो सच्चे हैं और सहज हैं, जो धर्मी हैं और पावन हैं,

जो कार्य योजना करें उजागर,

करें प्रकाशित मानवता के भेदों को, और मंज़िल को,

रचा जिन्होंने मानव जाति को,

रहे हज़ारों साल गुप्त जो मानवता से।

करते हैं वो अंत अनजाने युग का।

देह-धारी प्रभु,

करते हैं जो अंत उस युग का,

जहां चाहकर भी कर ना पाई मानवता, दर्शन परमेश्वर का।

करते हैं जो अंत उस युग का जहां मानवजाति ने, की सेवा शैतान की,

और करते हैं एक नये युग में रहनुमाई इंसान की।

ये सब है परिणाम प्रभु के कामों का उस देहरूप में,

ना कि प्रभु के आत्म-रूप में,

ना कि प्रभु के आत्म-रूप में,

ना कि प्रभु के आत्म-रूप में।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला:अंतिम दिनों का मसीह लाता है राज्य का युग

अगला:अंत के दिनों में हासिल करता है सब परमेश्वर मुख्यत: वचनों से

सम्बंधित मीडिया

वचन देह में प्रकट होता है अंत के दिनों के मसीह के कथन (संकलन) मेमने ने पुस्तक को खोला न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है सर्वशक्तिमान परमेश्वर, अंतिम दिनों के मसीह, के उत्कृष्ट वचन राज्य के सुसमाचार पर सर्वशक्तिमान परमेश्वर के उत्कृष्ट वचन -संकलन मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ राज्य के सुसमाचार पर उत्कृष्ट प्रश्न और उत्तर (संकलन) परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) विजेताओं की गवाहियाँ मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप