सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

प्रभुजनों की प्रार्थना

I

ईश्वर के बंदे उठते उसके सिंहासन के समक्ष, दिल में प्रार्थनाएं उनके।

ईश्वर दे आशीष उन्हें जो लौटे प्रभु की ओर; वे सब रोशनी में हैं जीते।

विनती है पवित्र आत्मा से करे प्रबुद्ध हमें परमेश्वर की इच्छा से,

द्वारा वचन के।

सभी लोग संजोये परमेश्वर के वचन को और वे आएँ उसे जानने।

ईश्वर दे हमें और ज्यादा उसके अनुग्रह, जिससे जीवन का स्वभाव बदले।

ईश्वर करे परिपूर्ण हमें जिससे बनें एक मन और दिल उसके साथ।

हमें अनुशासित करे जिससे हम पालन अपने कर्तव्यों का करें।

राह दिखाए रोज़ पवित्र आत्मा जिससे हों हम

परमेश्वर के साक्षी और करें प्रचार।

II

सब लोगों को हो ज्ञान अच्छे और बुरे का, करें पालन सत्य का।

परमेश्वर दुर्जनों को दण्डित करे और कलीसिया में शांति रहे।

अर्पण सभी करें सच्चा प्रेम परमेश्वर को जो हैं सबसे सुहावने और प्यारे।

सब अड़चन हटाए परमेश्वर जिससे सौंपे खुद को पूरा हम।

प्रभु दे ऐसा दिल जो करे उससे ही प्यार, दिल जो जाए न उससे दूर।

सभी लौट आएं परमेश्वर के समक्ष जिन्हें उसने चुना है।

सभी मिलकर गाएँ गुणगान परमेश्वर के जिसने की महिमा की प्राप्ति।

परमेश्वर रहे साथ प्रजा के अपने, हमें अपने प्रेम में जीवित रखे।

परमेश्वर रहे साथ प्रजा के अपने, हमें अपने प्रेम में जीवित रखे।

"मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना" से

पिछला:हमारा जीवन व्यर्थ में नहीं है

अगला:एक निर्मित प्राणी के दिल की आवाज़

वचन देह में प्रकट होता है अंतिम दिनों के मसीह के कथन - संकलन मेमने ने पुस्तक को खोला न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है राज्य के सुसमाचार पर सर्वशक्तिमान परमेश्वर के उत्कृष्ट वचन -संकलन परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) राज्य के सुसमाचार पर उत्कृष्ट प्रश्न और उत्तर (संकलन) मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियां सच्चे मार्ग की खोजबीन पर एक सौ प्रश्न और उत्तर विजेताओं की गवाहियाँ मसीह के न्याय के अनुभव की गवाहियाँ जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया