2020 Christian Song | कार्य के तीन चरण परमेश्वर के मानव-प्रबंधन को बयाँ करते हैं

2020 Christian Song | कार्य के तीन चरण परमेश्वर के मानव-प्रबंधन को बयाँ करते हैं

74 |11 सितम्बर, 2020

अधिक देखें परमेश्वर के वचनों के भजन

https://www.youtube.com/playlist?list=PLzsaXtMKhYhfuIJjiRPDakv36LcacfYRD

अधिक देखें सुसमाचार फिल्म श्रृंखला

https://www.youtube.com/playlist?list=PLzsaXtMKhYhdb8qKy_EQkp8biBOJu2Vln

मानवजाति के प्रबंधन करने के कार्य को तीन चरणों में बाँटा जाता है,

जिसका अर्थ यह है कि मानवजाति को बचाने के कार्य को तीन चरणों में बाँटा जाता है।

इन चरणों में संसार की रचना का कार्य समाविष्ट नहीं है,

बल्कि ये व्यवस्था के युग,

अनुग्रह के युग और राज्य के युग के कार्य के तीन चरण हैं।

संसार की रचना करने का कार्य, सम्पूर्ण मानवजाति को उत्पन्न करने का कार्य था।

यह मानवजाति को बचाने का कार्य नहीं था,

और मानवजाति को बचाने के कार्य से कोई सम्बन्ध नहीं रखता है,

और मानवजाति को बचाने के कार्य से कोई सम्बन्ध नहीं रखता है,

क्योंकि जब संसार की रचना हुई थी तब मानवजाति शैतान के द्वारा भ्रष्ट नहीं की गई थी,

और इसलिए मानवजाति के उद्धार का कार्य करने की कोई आवश्यकता नहीं थी।

मनुष्य के प्रबंधन का परमेश्वर का कार्य

मनुष्य को बचाने के कार्य के परिणामस्वरूप आरंभ हुआ,

और संसार की रचना के कार्य से उत्पन्न नहीं हुआ।

मानवजाति के स्वभाव के भ्रष्ट हो जाने के बाद ही

प्रबंधन का कार्य अस्तित्व में आया,

और इसलिए मानवजाति के प्रबंधन के कार्य में चार चरणों

या चार युगों के बजाए तीन भागों का समावेश है।

परमेश्वर के मानवजाति को प्रबंधित करने के कार्य दर्शाने का केवल यही सही तरीका है।

जब अंतिम युग समाप्त होने के समीप होगा,

तब तक मानवजाति को प्रबंधित करने का कार्य पूर्ण समाप्ति तक पहुँच गया होगा।

प्रबंधन के कार्य के समापन का अर्थ है

कि समस्त मानवजाति को बचाने का कार्य पूरी तरह से समाप्त हो गया है,

और यह कि मानवजाति अपनी यात्रा के अंत में पहुँच चुकी है।

परमेश्वर के प्राणियों के रूप में,

तुम लोगों को जानना चाहिए कि मनुष्य परमेश्वर के द्वारा रचा गया था,

और मानवजाति की भ्रष्टता के स्रोत को पहचानना चाहिए, और, इसके अलावा,

मनुष्य के उद्धार की प्रक्रिया को जानना चाहिए।

कार्य के तीन चरण परमेश्वर के मनुष्यों के प्रबंधन की आंतरिक कथा हैं,

सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड के सुसमाचार का आगमन,

समस्त मानवजाति के बीच सबसे बड़ा रहस्य हैं,

और सुसमाचार के प्रसार का आधार भी हैं।

यदि तुम केवल अपने जीवन से सम्बन्धित

सामान्य सत्यों को समझने पर ही ध्यान केन्द्रित करते हो,

और इसके बारे में कुछ नहीं जानते हो, जो कि सबसे बड़ा रहस्य और दर्शन है,

तो क्या तुम्हारा जीवन किसी दोषपूर्ण उत्पाद के सदृश नहीं है,

जो सिर्फ देखने के अलावा किसी काम का नहीं है?

'मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ' से

सब
क्या आप जानना चाहते हैं कि सच्चा प्रायश्चित करके परमेश्वर की सुरक्षा कैसे प्राप्त करनी है? इसका तरीका खोजने के लिए हमारे ऑनलाइन समूह में शामिल हों।
Messenger पर हमसे संपर्क करें
WhatsApp पर हमसे संपर्क करें

साझा करें

रद्द करें