सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

`

तड़प

I

हे प्रभु!

अंधेरी दुनिया है, हुकूमत है शैतान की।

लम्बी रात और लम्बी होती जा रही है।

सच्चे परमेश्वर में आस्था का पथ,

और जीवन का अनुसरण मुश्किल हो रहा है।

चीनी साम्यवादी दल तलाश में है हमारी,

ढाह रहा है ज़ुल्म परमेश्वर के लोगों पर।

गिरफ्तार कर रहे हैं, वो दे रहे हैं यातना हमें।

परिजन हमारे समझ पाते नहीं।

पड़ोसी करते बदनाम उड़ाते हँसी हमारी,

और दुनिया भी हमको ठुकराती।

सहता हूँ दुख-दर्द, पुकारता हूँ प्रभु को,

हे यीशु दो सामर्थ मुझे, दो सामर्थ मुझे।

II

हे प्रभु, मैं विनति करुँ, प्रबुद्ध करो,

दिखाओ रोशनी मुझे।

इस अंधेरी रात में जब चलूँ तो चलो साथ मेरे।

रहो मेरे साथ और मेरी आस्था को सामर्थ दो।

ताकि सह सकूँ मैं अंत तक और बचाया जा सकूँ।

हे मेरे प्रभु, जल्दी आओ, जल्दी आओ।

शैतान के चंगुल से हमें बचाओ,

ताकि तुम तक हम लौट सकें।

मैं तड़प रहा, तुम वापस आओ,

और हमें अपने संग स्वर्ग ले जाओ।

अनंत काल के लिये ले जाओ।

"मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना" से

पिछला:मेरे प्रिय, इंतज़ार करो मेरा

अगला:जहाँ भी जाओगे, मैं तुम्हें चाहूंगा

शायद आपको पसंद आये

परमेश्वर सम्पूर्ण मानवजाति के भाग्य का नियन्ता है प्रश्न 26: बाइबल ईसाई धर्म का अधिनियम है और जो लोग प्रभु में विश्वास करते हैं, उन्होंने दो हजार वर्षों से बाइबल के अनुसार ऐसा विश्वास किया हैं। इसके अलावा, धार्मिक दुनिया में अधिकांश लोग मानते हैं कि बाइबल प्रभु का प्रतिनिधित्व करती है, कि प्रभु में विश्वास बाइबल में विश्वास है, और बाइबल में विश्वास प्रभु में विश्वास है, और यदि कोई बाइबल से भटक जाता है तो उसे विश्वासी नहीं कहा जा सकता। कृपया बताओ, क्या मैं पूछ सकता हूँ कि इस तरीके से प्रभु पर विश्वास करना प्रभु की इच्छा के अनुरूप है या नहीं? बुलाए हुए बहुत हैं, परन्तु चुने हुए कुछ ही हैं केवल परमेश्वर के प्रबंधन के मध्य ही मनुष्य बचाया जा सकता है