01जो लोग अंत के दिनों में प्रभु की वापसी का स्वागत करेंगे उनके लिए, आस्था में थोमा की विफलता की चेतावनी

बाइबल में दर्ज है कि थोमा को प्रभु में तब तक आस्था नहीं थी जब तक उसने उसे देखा नहीं था और इसी कारण से वह प्रभु यीशु द्वारा इस प्रकार फटकारा गया: "तू ने मुझे देखा है, क्या इसलिये विश्‍वास किया है? धन्य वे हैं जिन्होंने बिना देखे विश्‍वास किया" (यूहन्ना 20:29)। जो लोग अंत के दिनों में प्रभु का स्वागत करेंगे, उनके लिए प्रभु यीशु के इन वचनों में क्या चेतावनी दी गयी है? बहुत से लोग इस भविष्यवाणी से चिपके रहते हैं कि प्रभु एक बादल पर आयेगा, जबकि वे प्रभु के गुप्त रूप से आने की भविष्यवाणी को नज़रंदाज़ कर देते हैं। वे ऐसी किसी भी गवाही पर विश्वास करने से इनकार कर देते हैं कि प्रभु देहधारण करके वापस आ चुका है, वे सिर्फ़ इसी बात पर विश्वास करने के लिए अड़े रहते हैं कि वह तभी लौटेगा जब वे उसे एक बादल पर आता हुआ देखेंगे। क्या इससे वे थोमा की गलती को दोहरा नहीं रहे हैं?

संदर्भ के लिए बाइबल के पद

"जब अन्य चेले उससे कहने लगे, 'हम ने प्रभु को देखा है,' तब उसने उनसे कहा, 'जब तक मैं उसके हाथों में कीलों के छेद न देख लूँ, और कीलों के छेदों में अपनी उँगली न डाल लूँ, और उसके पंजर में अपना हाथ न डाल लूँ, तब तक मैं विश्‍वास नहीं करूँगा।' आठ दिन के बाद उसके चेले फिर घर के भीतर थे, और थोमा उनके साथ था; और द्वार बन्द थे, तब यीशु आया और उनके बीच में खड़े होकर कहा, 'तुम्हें शान्ति मिले।' तब उसने थोमा से कहा, 'अपनी उँगली यहाँ लाकर मेरे हाथों को देख और अपना हाथ लाकर मेरे पंजर में डाल, और अविश्‍वासी नहीं परन्तु विश्‍वासी हो'" (यूहन्ना 20:25-27)।

"यीशु ने उससे कहा, 'तू ने मुझे देखा है, क्या इसलिये विश्‍वास किया है? धन्य वे हैं जिन्होंने बिना देखे विश्‍वास किया।'" (यूहन्ना 20:29)।

"देखो, वह बादलों के साथ आनेवाला है, और हर एक आँख उसे देखेगी, वरन् जिन्होंने उसे बेधा था वे भी उसे देखेंगे, और पृथ्वी के सारे कुल उसके कारण छाती पीटेंगे। हाँ। आमीन" (प्रकाशितवाक्य 1:7)।

02 प्रभु का स्वागत करने के लिए सही मार्ग

जब प्रभु का स्वागत करने की बात आती है, तो हमें थोमा की विफलता से सीख लेनी चाहिए। प्रभु पर विश्वास करने से पहले हम उसे एक बादल पर सवार होकर आते हुए देखने का इंतज़ार नहीं कर सकते। तो फिर, हम प्रभु का स्वागत कैसे करें? प्रभु यीशु ने हमें बहुत स्पष्ट रूप से बताया था: "आधी रात को धूम मची: 'देखो, दूल्हा आ रहा है! उससे भेंट करने के लिये चलो'" (मत्ती 25:6) प्रकाशितवाक्य की पुस्तक यह भविष्यवाणी करती है, "देख, मैं द्वार पर खड़ा हुआ खटखटाता हूँ; यदि कोई मेरा शब्द सुनकर द्वार खोलेगा, तो मैं उसके पास भीतर आकर उसके साथ भोजन करूँगा और वह मेरे साथ" (प्रकाशितवाक्य 3:20)। हम यहाँ देख सकते हैं कि परमेश्वर की वाणी को सुनना ही प्रभु का स्वागत करने की कुंजी है—यही उसका स्वागत करने का एकमात्र रास्ता है। जब हम किसी को प्रभु की वापसी की गवाही देते हुए सुनें, तो हमें उसकी खोज और जाँच-पड़ताल करनी चाहिये। परमेश्वर की वाणी को पहचाते ही हमें उसे स्वीकार करके उसके प्रति समर्पित हो जाना चाहिये। क्या यह प्रभु का स्वागत करना नहीं है?

संदर्भ के लिए बाइबल के पद

"तू ने मुझे देखा है, क्या इसलिये विश्‍वास किया है? धन्य वे हैं जिन्होंने बिना देखे विश्‍वास किया" (यूहन्ना 20:29)।

"इसलिये तुम भी तैयार रहो, क्योंकि जिस घड़ी के विषय में तुम सोचते भी नहीं हो, उसी घड़ी मनुष्य का पुत्र आ जाएगा" (मत्ती 24:44)।

"देख, मैं चोर के समान आता हूँ; धन्य वह है जो जागता रहता है, और अपने वस्त्र की चौकसी करता है कि नंगा न फिरे, और लोग उसका नंगापन न देखें" (प्रकाशितवाक्य 16:15)।

"मुझे तुम से और भी बहुत सी बातें कहनी हैं, परन्तु अभी तुम उन्हें सह नहीं सकते। परन्तु जब वह अर्थात् सत्य का आत्मा आएगा, तो तुम्हें सब सत्य का मार्ग बताएगा" (यूहन्ना 16:12-13)।

"देख, मैं द्वार पर खड़ा हुआ खटखटाता हूँ; यदि कोई मेरा शब्द सुनकर द्वार खोलेगा, तो मैं उसके पास भीतर आकर उसके साथ भोजन करूँगा और वह मेरे साथ" (प्रकाशितवाक्य 3:20)।

"आधी रात को धूम मची: 'देखो, दूल्हा आ रहा है! उससे भेंट करने के लिये चलो'" (मत्ती 25:6)।

"जब वे मोल लेने को जा रही थीं तो दूल्हा आ पहुँचा, और जो तैयार थीं, वे उसके साथ विवाह के घर में चली गईं और द्वार बन्द किया गया" (मत्ती 25:10)।

"मेरी भेड़ें मेरा शब्द सुनती हैं; मैं उन्हें जानता हूँ, और वे मेरे पीछे पीछे चलती हैं" (यूहन्ना 10:27)।

"जिसके कान हों वह सुन ले कि आत्मा कलीसियाओं से क्या कहता है" (प्रकाशितवाक्य 2:7)।

संदर्भ के लिए लेख

अंत के दिन आ गये हैं: यीशु के द्वितीय आगमन की भविष्यवाणियाँ कैसे पूरी हो रही हैं?

अंत के दिन आ गये हैं: यीशु के द्वितीय आगमन की भविष्यवाणियाँ कैसे पूरी हो रही हैं?

जब प्रभु द्वार पर दस्तक देने आएंगे तो हम उनका स्वागत कैसे करेंगे?

जब प्रभु द्वार पर दस्तक देने आएंगे तो हम उनका स्वागत कैसे करेंगे?

अधिक उत्कृष्ट सामग्री

अन्य विषय

सच्चे मार्ग की जांच-पड़ताल करते समय केवल परमेश्वर की वाणी को ही सुनें—आपको शैतान की अफ़वाहों और झूठों को नहीं सुनना चाहिए
सच्चे मार्ग की जांच-पड़ताल करते समय केवल परमेश्वर की वाणी को ही सुनें—आपको शैतान की अफ़वाहों और झूठों को नहीं सुनना चाहिए
बुद्धिमान कुँवारी कैसे बनें और दूल्हे का स्वागत कैसे करें
स्वर्ग के राज्य में प्रवेश कैसे करें
स्वर्ग के राज्य में प्रवेश कैसे करें
प्रभु काफी समय पहले प्रकट होने और कार्य करने के लिए देहधारण करके लौट आया है
प्रभु काफी समय पहले प्रकट होने और कार्य करने के लिए देहधारण करके लौट आया है