परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं

सर्वशक्तिमान परमेश्‍वर के वचनों के पाठ अधिक

मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ

धार्मिक जगत इतनी मेहनत लगाकर, सर्वशक्तिमान परमेश्वर और सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया की निंदा और पागलों की तरह विरोध क्यों करता है?

संदर्भ के लिए बाइबल के पद: "एक और दृष्‍टान्त सुनो : एक गृहस्वामी था, जिसने दाख की बारी लगाई, उसके चारों ओर बाड़ा बाँधा, उसमें रस का कुंड खोदा और गुम्…

सीसीपी सरकार, सर्वशक्तिमान परमेश्वर और सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का पागलों सा दमन और उन्हें क्रूरता से प्रताड़ित क्यों करती है?

संदर्भ के लिए बाइबल के पद: "इस युग के लोग बुरे हैं" (लूका 11:29)। "और सारा संसार उस दुष्‍ट के वश में पड़ा है" (1 यूहन्ना 5:19)। "और दण्ड की आज्ञा क…

अफवाहें कहाँ से आती हैं और इन्हें कैसे बनाया जाता है?

संदर्भ के लिए बाइबल के पद: "यहोवा परमेश्‍वर ने जितने बनैले पशु बनाए थे, उन सब में सर्प धूर्त था; उसने स्त्री से कहा, क्या सच है कि परमेश्‍वर ने कहा, …

परमेश्वर के लौटने की गवाहियाँ अधिक

पाप पर विजय कैसे पाएँ: अंतत: मैंने शुद्धता का पथ पा लिया और मुक्त हो गयी

वह पापों के बंधन से निकल न पाने की असमर्थता के कारण व्यथित महसूस करती थी। बाद में, परमेश्वर के मार्गदर्शन के तहत, उसने आखिरकार पाप को दूर करने और शुद्ध किए जाने का मार्ग खोज लिया। उसने क्या अनुभव किया? पता लगाने के लिए कृपया पढ़ें ...

क्या आकाश की ओर देखकर तुम वाकई प्रभु का स्वागत कर सकते हो?

बहुत-से विश्वासी प्रभु यीशु के बादल पर सवार होकर नीचे उतरने की प्रतीक्षा कर रहे हैं, ताकि वे विपत्तियाँ आने से पहले परमेश्वर के राज्य में ले जाए जा सक…

और देखें

परमेश्वर ने चीन में विजेताओं का एक समूह बनाया है

अधिक

उत्पीड़न और पीड़ा ने मेरे भीतर परमेश्वर के प्रति प्रेम को और बढ़ा दिया

मेरा नाम लियु झेन है। मेरी आयु 78 बरस की है, और मैं सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया की एक सामान्य ईसाई भर हूँ। मैं सर्वशक्तिमान परमेश्वर की आभारी हूँकि उन्होंने मुझे, गाँव की एक बुढ़िया को चुना जो दुनिया की नज़र में मामूली है।

परमेश्वर मेरे जीवन की शक्ति है

शाओही, हेनान प्रान्त 14 वर्षों तक मैंने सर्वशक्तिमान परमेश्वर का अनुसरण किया है। ये वर्ष मानो पलक झपकते बीत गए। इन तमाम वर्षों के दौरान मैंने कई उत…

पीड़ा से प्रेम की सुगंध उत्सर्जित होती है

मैं एक साधारण ग्रामीण महिला हूँ और, केवल लड़कों को महत्व देने के सामंती विचार की वजह से, मैं लड़का पैदा नही करने के कारण शर्म से दूसरों के सामने सिर उठाने में असमर्थ थी। जब मैं बहुत अधिक पीड़ित थी, तभी मुझे प्रभु यीशु द्वारा चुना लिया गया और दो साल बाद, मैंने सर्वशक्तिमान परमेश्वर के उद्धार को स्वीकार कर लिया।

एक युवा जिसे पछतावा नहीं है

हालाँकि मैंने अपनी युवावस्था के बेहतरीन वर्ष जेल में बिताए थे, लेकिन उन सात सालों और चार महीनों में मैंने परमेश्वर में अपनी आस्था के लिये कष्ट उठाए थे, और इस बात का मुझे कोई अफ़सोस नहीं है।

और देखें