सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

Hindi Christian Movie | "चीन में धार्मिक उत्पीड़न का इतिहास" चीनी ईसाइयों की क्रूर कहानी

सत्य को प्रकट करना   4446  

परिचय

वर्ष 1949 में मेनलैंड चीन में सत्ता पर कब्ज़ा जमाने के बाद से, चीनी साम्यवादी पार्टी धार्मिक आस्था को उत्पीड़ित करने में निरंतर लगी रही है। इसने बेतहाशा ईसाइयों को गिरफ्तार किया और उनकी हत्या की, चीन में कार्यरत मिशनरियों के साथ दुर्व्यवहार किया और उन्हें निष्कासित कर दिया, बाइबिल की अनगिनत प्रतियों को जब्त कर लिया और जला दिया, कलीसिया के भवनों पर ताला लगा दिया और उन्हें ध्वस्त कर दिया, और सभी घरों में कलीसिया को उन्मूलित करने का निरर्थक प्रयास किया। हाल के वर्षों में सीसीपी सरकार ने ईसाई धर्म के "सिनिफिकेशन" के उद्देश्य से व्यापक पैमाने पर नीतियों का सूत्रपात किया है। हजारों कलीसिया के क्रॉस चिन्हों को ध्वस्त कर दिया गया, अनेककलीसिया भवनों को गिरा दिया गया, और घरेलू कलीसिया में बड़ी संख्या में ईसाइयों को गिरफ्तार कर लिया गया और उन्हें प्रताड़ित किया गया। चीन में ईसाई कलीसिया क्रूर और रक्तरंजित उत्पीड़न सहन करने के लिए मजबूर हैं ...

यह वृत्तचित्र सीसीपी सरकार के हाथों चीनी ईसाइयों द्वारा झेले गए उत्पीड़न के वास्तविक अनुभवों को ईमानदारी और निष्पक्ष रूप से प्रस्तुत करता है। फिल्म में प्रस्तुत सताए गए ईसाई अलग-अलग संप्रदाय और जाति के लोग हैं, जिन्होंने सत्य की खोज की, और जिन्होंने परमेश्वर की आवाज़ को सुना और इस प्रकार वे सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास वापस लौट आए । वे जीवन के सही रास्ते पर चले, इसके बावजूद सीसीपी सरकार ने बेतहाशा उन्हें गिरफ्तार किया। उनमें से कुछ को कारावास की सजा दी गई, कुछ लोगों पर किसी भी तरह से अत्याचार किए गए, कुछ लोगों को अपने पति या पत्नी और अपने बच्चों से अलग भगोड़ा जीवन व्यतीत करने के लिए विवश कर दिया गया, और कुछ लोगों को अपंग बना दिया गया या यातना देकर मार दिया गया। उत्कृष्ट रूप से, यह लघु वृत्तचित्र उस समय वास्तव में क्या हुआ था, उसे पुनर्सृजित करने का प्रयास करता है, और चीनी ईसाईयों की धार्मिक आस्थाओं और मानवाधिकारों के लज्जाजनक अतिक्रमण को स्पष्ट रूप से प्रतिबिंबित करता है। यह वृत्तचित्र चीनी ईसाइयों और ईसाई परिवारों के वास्तविक जीवन को समझने के लिए एक खिड़की खोलता है, साथ ही साथ यह हाल के वर्षों में – जो शायद ही कभी देखने को मिला हो - चीनी ईसाईयों के अनुभवों और भावनाओं को प्रतिबिंबित करता है, जिन्हें उनकी आस्था के परिणामस्वरूप सताया गया है।

चमकती पूर्वी बिजली, सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का सृजन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के प्रकट होने और उनका काम, परमेश्वर यीशु के दूसरे आगमन, अंतिम दिनों के मसीह की वजह से किया गया था। यह उन सभी लोगों से बना है जो अंतिम दिनों में सर्वशक्तिमान परमेश्वर के कार्य को स्वीकार करते हैं और उसके वचनों के द्वारा जीते और बचाए जाते हैं। यह पूरी तरह से सर्वशक्तिमान परमेश्वर द्वारा व्यक्तिगत रूप से स्थापित किया गया था और चरवाहे के रूप में उन्हीं के द्वारा नेतृत्व किया जाता है। इसे निश्चित रूप से किसी मानव द्वारा नहीं बनाया गया था। मसीह ही सत्य, मार्ग और जीवन है। परमेश्वर की भेड़ परमेश्वर की आवाज़ सुनती है। जब तक आप सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों को पढ़ते हैं, आप देखेंगे कि परमेश्वर प्रकट हो गए हैं।

विशेष वक्तव्य: यह वीडियो प्रस्तुति सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया द्वारा लाभ-के-लिए-नहीं (नॉट-फॉर प्रॉफिट) रचना के रूप में तैयार की गई थी। इस प्रस्तुति में दिखाई देने वाले अभिनेता लाभ-के-लिए-नहीं आधार पर अभिनय कर रहे हैं, और उन्हें किसी भी तरह से भुगतान नहीं किया गया है। यह वीडियो किसी भी तीसरे पक्ष को लाभ के लिए वितरित नहीं किया जा सकता है, और हमें आशा है कि हर कोई इसे खुले तौर पर साझा और वितरित करेगा। जब आप इसे वितरित करते हैं, तो कृपया स्रोत पर ध्यान दें। सर्वशक्तिमान परमेश्वर के कलीसिया की सहमति के बिना, कोई भी संगठन, सामाजिक समूह या व्यक्ति इस वीडियो की सामग्री के साथ छेड़छाड़ नहीं कर सकता है या इसे गलत तरीके से प्रस्तुत नहीं कर सकता है।

Email:[email protected]

इस वीडियो की कुछ सामग्री इसमें से है:Wow!視覺特效Show 一手!影片素材上傳區!

https://www.youtube.com/channel/UCo2WsnnMMdo4x9FqETfHJ3g