परमेश्वर की बुद्धिमता और सर्व-शक्तिमत्ता के बारे में उसके आध्यत्मिक दुनिया के ऊपर नियंत्रण और प्रशासन के तथ्य से जानना

जब आत्मिक जगत की बात आती है, यदि इसमें इतने जीव कुछ गलत करते हैं, यदि वे अपना कार्य ठीक ढंग से नहीं करते हैं, तो परमेश्वर के पास उनसे निपटने के लिये उसी के अनुरूप स्वर्गिक धर्मादेश और निर्णय हैं-यह बात बिल्कुल सही है। तो…

2018-08-06 22:55:33

एक आत्मिक संसार क्या है

एक आत्मिक संसार क्या है?

एक आत्मिक संसार क्या है? मैं तुम्हें एक छोटा और सरल स्पष्टीकरण देता हूं। आत्मिक संसार एक महत्वपूर्ण स्थान है, एक ऐसा स्थान है जो भौतिक संसार से भिन्न है। और मैं क्यों कहता हूँ कि यह महत्वपूर्ण है? हम इसके विषय में विस्ता…

2018-08-06 22:01:31

अविश्वासियों का जीवन और मृत्यु चक्र

अविश्वासियों का जीवन और मृत्यु चक्र

आइये हम अविश्वासियों के जीवन और मृत्यु के चक्र से आरम्भ करते हैं। किसी मनुष्य की मृत्यु के पश्चात्, आत्मिक संसार का एक दूत उसे ले जाता है। और उनका कौन-सा भाग ले जाया जाता है? उनका शरीर नहीं, बल्कि उनकी आत्मा। जब उनकी आत्…

2018-08-06 22:27:48

विभिन्न विश्वासी लोगों के जीवन और मृत्यु का चक्र

हमने अभी अविश्वासियों की पहली श्रेणी के जीवन और मृत्यु चक्र पर चर्चा की। अब आओ हम द्वितीय श्रेणी, आस्था के विभिन्न लोगों पर चर्चा करें। "विभिन्न आस्था रखने वाले लोगों के जीवन और मृत्यु का चक्र" भी एक महत्वपूर्ण विषय है औ…

2018-08-06 22:41:25

परमेश्वर का अनुसरण करने वालों का जीवन और मृत्यु-चक्र

आओ, अब हम परमेश्वर के अनुयायियों के जीवन और मृत्यु के चक्र के विषय में बात करें। इसका संबंध तुम लोगों से है, इसलिये ध्यान दो। पहले विचार करो कि जो लोग परमेश्वर में विश्वास करते हैं उनको किन वर्गो में विभाजित किया जा सकता…

2018-08-06 22:49:04

यद्यपि मानवजाति को भ्रष्ट किया जा चुका है, फिर भी वह सृष्टिकर्ता के अधिकार की संप्रभुता के अधीन रहता है

शैतान हज़ारों सालों से मानवजाति को भ्रष्ट करता आया है। उसने बेहिसाब मात्रा में बुराईयाँ की हैं, पीढ़ियों के बाद पीढ़ियों को धोखा दिया है, और संसार में जघन्य अपराध किए हैं। उसने मनुष्य का ग़लत इस्तेमाल किया है, मनुष्य को धोखा…

2018-08-07 00:43:24

केवल परमेश्वर ही, जिसके पास सृष्टिकर्ता की पहचान है, अद्वितीय अधिकार रखता है

शैतान की "विशिष्ट" पहचान ने बहुत से लागों से उसके विभिन्न पहलुओं के प्रकटीकरण में गहरी रूचि का प्रदर्शन करवाया है। यहाँ तक कि बहुत से मूर्ख लोग भी हैं जो यह विश्वास करते हैं कि, परमेश्वर के साथ ही साथ, शैतान भी आधिकार रख…

2018-08-07 00:37:32