सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

वचन देह में प्रकट होता है

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

अध्याय 3

विजयी राजा अपने शानदार सिंहासन पर बैठता है। उसने मुक्ति हासिल कर ली है और महिमा में प्रकट होने के लिए अपने सभी लोगों की अगुआई की है। उसने अपने हाथों में ब्रह्मांड को पकड़ा है तथा अपने दिव्य ज्ञान और पराक्रम से मजबूत सिय्योन का निर्माण किया है। अपने प्रताप से वह दुष्ट दुनिया का न्याय करता है; वह सभी देशों और सभी लोगों, पृथ्वी और समुद्र, और उन पर रहने वाले सभी जीवों, साथ ही साथ स्वच्छंद भोग की मदिरा के नशे में डूबे लोगों का न्याय करता है। परमेश्वर उनका न्याय ज़रूर करेगा और वह निश्चित रूप से उनसे नाराज होगा और इसमें परमेश्वर की महिमा प्रकट होगी। ऐसा न्याय तात्कालिक होगा और बगैर विलंब के प्रदान किया जाएगा। परमेश्वर के क्रोध की अग्नि उन सभी के घृणित अपराधों को भस्म कर देगी और उन लोगों पर किसी भी क्षण विपत्ति आएगी; उन्हें बच के निकलने के लिए किसी भी मार्ग और छिपने के किसी भी स्थान का पता नहीं होगा, वे रोएंगे और अपने दाँत पीसेंगे, और वे अपने ऊपर विनाश ले आएंगे।

परमेश्वर के विजयी प्यारे पुत्र निश्चित रूप से सिय्योन में रहेंगे, उसे कभी नहीं छोड़ेंगे। बहुत सारे लोग बहुत ध्यान से उसकी बात सुनेंगे, वे सावधानी से उसके कार्यों पर ध्यान देंगे और उसके लिए उनकी प्रशंसा की आवाजें कभी बंद नहीं होंगी। एक सच्चा परमेश्वर प्रकट हुआ है! हम आत्मा से उसके बारे में निश्चिंत रहेंगे और उसका ध्यानपूर्वक अनुसरण करेंगे और बगैर संकोच के आगे बढ़ने के लिये पूरी शक्ति लगा देंगे। दुनिया का अंत हमारे सामने प्रकट हो रहा है; चर्च का उपयुक्त जीवन तथा लोग, कामकाज और चीजें जिनसे हम घिरे हैं, हमारे प्रशिक्षण को और अधिक तेज करती हैं। हमारे उस हृ्दय को हमसे वापस ले लो जो दुनिया से प्रेम करता है! हमारी वह दृष्टि हमसे वापस ले लो जो इतनी धुंधली है! हम अब और आगे नहीं चलेंगे, कहीं हम सीमाओं को न लाँघ दें और हम अपनी जिह्वा को नियंत्रण में रखेंगे ताकि हम परमेश्वर के वचन के साथ जी सकें और अब हम अपने लाभ और हानियों पर झगड़ा नहीं करेंगे। धर्मनिरपेक्ष दुनिया और धन दौलत के प्रति अपना लगाव त्याग दो! अपने पति और अपनी बेटियों तथा बेटों के प्रति मोह से स्वयं को मुक्त करो! अपने विचारों और पूर्वाग्रहों को त्याग दो! जागो, समय कम है! अपनी आत्मा को ऊपर, और ऊपर देखने दो और परमेश्वर को नियंत्रित करने दो। अपने आपको लूत की पत्नी की तरह न बनने दो। बेकार समझ कर छोड़ दिया जाना अत्यंत दयनीय होता है! सचमुच बहुत दयनीय होता है! जागो!

पिछला:अध्याय 2

अगला:अध्याय 4

सम्बंधित मीडिया