सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

ख़ामोशी से आता है हमारे मध्य परमेश्वर

I

मौन है परमेश्वर, सामने हमारे कभी प्रकट हुआ नहीं,

फिर भी कार्य उसका कभी रुका नहीं।

नज़र रखता है पूरी धरती पर, नियंत्रित करता है हर चीज़ को।

देखता है इंसान के सभी शब्दों को और काम को।

उसकी योजना के मुताबिक पूरा होता है धीरे-धीरे उसका प्रबंधन।

ख़ामोश, मगर बढ़ते हैं इंसान के करीब उसके कदम।

न्याय-पीठ उसकी तैनात होती है कायनात में,

उसके बाद होता है अवरोहण उसके सिंहासन का हमारे मध्य में,

उसके सिंहासन का हमारे मध्य में।

II

कैसा शानदार, भव्य और गंभीर नज़ारा है।

कपोत और सिंह के मानिंद, आत्मा का आगमन होता है।

सचमुच बुद्धिमान है, धार्मिक है, प्रतापी है वो।

अधिकार सहित, प्रेम और करुणा से भरपूर है वो।

उसकी योजना के मुताबिक पूरा होता है धीरे-धीरे उसका प्रबंधन।

ख़ामोश, मगर बढ़ते हैं इंसान के करीब उसके कदम, उसके कदम।

न्याय-पीठ उसकी तैनात होती है कायनात में,

उसके बाद होता है अवरोहण उसके सिंहासन का हमारे मध्य में,

उसके बाद होता है अवरोहण उसके सिंहासन का हमारे मध्य में।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला:परमेश्वर के वचनों का अभ्यास और परमेश्वर को संतुष्ट करना सबसे पहले आता है

अगला:शुद्धिकरण की पीड़ा के मध्य ही शुद्ध बनता है इंसान का प्रेम

शायद आपको पसंद आये