सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

506 अपने विश्वास में उस मार्ग का अनुसरण करो जिस पर पवित्र आत्मा अगुआई करता है

1 तुम लोग परमेश्वर के विश्वासी होने के मार्ग में बहुत ही थोड़ा चले हो, और तुम लोगों के लिए सही मार्ग पर प्रवेश करना अभी बाकी है, अतः तुम लोग परमेश्वर के स्तर को प्राप्त करने से अभी भी दूर हो।इस समय, तुम लोगों की क्षमता उसकी माँगों को पूरा करने के लिए पर्याप्त नहीं है। तुम लोगोंकी योग्यता और साथ ही साथ तुम लोगों के आंतरिक भ्रष्ट स्वभाव के कारण तुम लोग हमेशा परमेश्वर के कार्य को लापरवाही के साथ देखते हो और इसे गंभीरता से नहीं लेते। यह तुम लोगों की सबसे बड़ी कमी है।

2 इसके साथ-साथ, तुम लोग पवित्र आत्मा के मार्ग को ढूँढने में असमर्थ हो। तुम लोगों में से अधिकाँश इसे नहीं समझते और इसे स्पष्ट रूप से नहीं देख सकते। इससे बढ़कर, तुम लोगों में से अधिकाँश इस विषय पर कोई ध्यान नहीं देते, और इसके बारे में बहुत ही कम गंभीर हो। यदि तुम लोग इसी तरह से व्यवहार करते रहोगे और पवित्र आत्मा के कार्य को नहीं जानोगे तो परमेश्वर के विश्वासी के रूप में जो मार्ग तुम लोग लेते हो वह निरर्थक होगा। यह इसलिए है क्योंकि तुम लोग अपनी सामर्थ्य में परमेश्वर की इच्छा को पूरा करने के प्रयास में सब कुछ नहीं करते हो, और क्योंकि तुम लोग परमेश्वर के साथ अच्छी तरह से सहयोग नहीं करते। ऐसा नहीं है कि परमेश्वर ने तुम पर पर कार्य नहीं किया है, या कि पवित्र आत्मा ने तुम्हें प्रेरित नहीं किया है। यह इसलिए है कि तुम इतने लापरवाह हो कि तुम पवित्र आत्मा के कार्य को गंभीरता से नहीं लेते। अब तुम्हें इसी समय चीजों को बदलना होगा और पवित्र आत्मा की अगुवाई वाले मार्ग में चलना होगा।

3 "पवित्र आत्मा की अगुवाई वाला मार्ग" यह है कि लोग अपनी आत्मा में प्रबुद्धता को प्राप्त करें, वे परमेश्वर के वचन के ज्ञान को प्राप्त करें, वे अपने सामने के मार्ग के विषय में स्पष्टता प्राप्त करें, और वे कदम दर कदम सत्य में प्रवेश कर सकें, और परमेश्वर को अधिक से अधिक समझ सकें। पवित्र आत्मा की अगुवाई वाला मार्ग मुख्यतः यह है कि लोग परमेश्वर के वचन की स्पष्ट समझ पाएँ जो कि भटकाव और गलत धारणाओं से दूर हो, ताकि वे उसमें चल सकें। इस प्रभाव को प्राप्त करने के लिए तुम लोगों को परमेश्वर के साथ तालमेल में कार्य करने, कार्य में लाने के लिए सही मार्ग को ढूँढने, और पवित्र आत्मा की अगुवाई वाले मार्ग में चलने की आवश्यकता होगी। यह मनुष्य की ओर से सहयोग से संबंधित है, अर्थात् परमेश्वर की माँगों को पूरा करने के लिए जो तुम लोग करते हो, और परमेश्वर में विश्वास के सही मार्ग में प्रवेश करने के लिए तुम लोग कैसा आचरण करते हो।

— "वचन देह में प्रकट होता है" में "एक सामान्य आत्मिक जीवन लोगों की सही मार्ग पर अगुवाई करता है" से रूपांतरित

पिछला:तुम्हारी खोज का उद्देश्य क्या है?

अगला:परमेश्वर मनुष्य की सच्ची आज्ञाकारिता चाहता है

सम्बंधित मीडिया

  • देहधारी परमेश्वर को किसने जाना है

    I चूँकि हो तुम एक नागरिक परमेश्वर के घराने के, चूँकि हो तुम निष्ठावान परमेश्वर के राज्य में, फिर जो कुछ भी तुम करते हो उसे जरूर खरा उतरना चाहिए परमेश्…

  • पवित्र आत्मा के कार्य के सिद्धांत

    I पवित्र आत्मा इक-तरफा कार्य नहीं करता, इंसान नहीं कर सकता काम अकेले। पवित्र आत्मा इक-तरफा कार्य नहीं करता, इंसान नहीं कर सकता काम अकेले। इंसान काम …

  • परमेश्वर स्वर्ग में है और धरती पर भी

    I परमेश्वर, परमेश्वर। परमेश्वर जब धरती पर होता है, तो इंसानों के दिल में वो व्यवहारिक होता है। स्वर्ग में वो सब जीवों का स्वामी होता है। नदियाँ लांघी…

  • प्रभु यीशु का अनुकरण करो

    I पूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने, हर इंसान के छुटकारे के काम को, क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की, इसमें न उसका स्वार्थ था, न योजना…

वचन देह में प्रकट होता है अंत के दिनों के मसीह के कथन (संकलन) मेमने ने पुस्तक को खोला न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है सर्वशक्तिमान परमेश्वर, अंतिम दिनों के मसीह, के उत्कृष्ट वचन राज्य के सुसमाचार पर सर्वशक्तिमान परमेश्वर के उत्कृष्ट वचन -संकलन मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) राज्य के सुसमाचार पर उत्कृष्ट प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप