एक छोटी जलधारा

कहानी. कहानी एक बड़ा पर्वत, एक छोटी जलधारा, एक प्रचण्ड हवा और एक विशाल लहर

एक छोटी-सी जलधारा थी जो यहाँ-वहाँ घूमती हुई बहती थी, और अन्ततः वह एक बड़े पर्वत के निचले सिरे पर पहुँचती थी। पर्वत उस छोटी जलधारा के मार्ग को रोक रहा था, अतः उस जलधारा ने अपनी कमज़ोर एवं धीमी आवाज़ में पर्वत से कहा, "कृपया …

2018-08-06 06:05:04

वायु

परमेश्वर द्वारा मनुष्यजाति के लिए बनाया जाने वाला बुनियादी जीवित रहने का पर्यावरण—वायु

सबसे पहले, परमेश्वर ने वायु को बनाया ताकि मनुष्य साँस ले सके। क्या यह "वायु" प्रतिदिन के जीवन की वायु नहीं है जिसके सम्पर्क में मनुष्यगण लगातार रहते हैं? क्या यह वह वायु नहीं है जिसके ऊपर मनुष्य हर पल निर्भर रहते हैं, यह…

2018-08-06 06:17:52

तापमान

परमेश्वर द्वारा मनुष्यजाति के लिए बनाया जाने वाला बुनियादी जीवित रहने का पर्यावरण—तापमान

दूसरी चीज़ है तापमान। हर कोई जानता है कि तापमान क्या होता है। तापमान एक ऐसी चीज़ हैं जिससे मनुष्य के जीवित रहने के लिए उपयुक्त वातावरण को अवश्य सुसज्जित होना चाहिए। यदि तापमान बहुत ही अधिक है, मान लीजिए यदि तापमान 40 डिग्…

2018-08-06 06:41:07

एक पेड़

कहानी. एक बीज, पृथ्वी, एक पेड़, धूप, गानेवाली चिड़िया एवं मनुष्य

एक छोटा-सा बीज पृथ्वी पर गिरा। जब वहाँ भारी बारिश हुई उसके बाद, उस बीज ने एक कोमल अंकुर को प्रस्फुटित किया और इसकी जड़ों ने धीरे से मिट्टी के नीचे गहरी पकड़ बना ली। वह अंकुर समय में, प्रचण्ड हवाओं एवं भारी वर्षा में, ऋतुओं…

2018-08-05 22:37:53

आवाज़

परमेश्वर द्वारा मनुष्यजाति के लिए बनाया जाने वाला बुनियादी जीवित रहने का पर्यावरण—आवाज़

तीसरी चीज़ क्या है? यह कुछ ऐसी भी चीज़ है जिसे मानवजाति के लिए एक सामान्य जीवित रहने के वातावरण में अवश्य होना चाहिए। यह कुछ ऐसी चीज़ भी है जिसके साथ परमेश्वर को निपटना पड़ता था जब उसने सभी चीज़ों की रचना की थी। यह कुछ ऐसा…

2018-08-06 06:57:52

प्रकाश

परमेश्वर द्वारा मनुष्यजाति के लिए बनाया जाने वाला बुनियादी जीवित रहने का पर्यावरण—प्रकाश

चौथी चीज़ लोगों की आँखों से सम्बन्धित है—अर्थात् प्रकाश। यह भी अत्यंत आवश्यक है। जब तुम चमकता हुआ प्रकाश देखते हो, और जब इस प्रकाश की यह चमक एक निश्चित सीमा तक पहुँच जाती है, तो तुम्हारी आँखें अन्धी हो जाएँगी। आखिरकार, मा…

2018-08-06 07:06:38

वायु का बहाव

परमेश्वर द्वारा मनुष्यजाति के लिए बनाया जाने वाला बुनियादी जीवित रहने का पर्यावरण—वायु का प्रवाह

पाँचवीं चीज़ क्या है? यह चीज़ प्रत्येक मनुष्य के दैनिक जीवन से बहुत ज़्यादा जुड़ी हुई है, और यह संबंध मज़बूत है। यह कुछ ऐसा है जिसके बिना मानव शरीर इस भौतिक जगत में जीवित नहीं रह सकता है। यह चीज़ वायु का प्रवाह है। "वायु का …

2018-08-06 07:12:06

परमेश्वर की मानवजाति की आपूर्ति को परमेश्वर द्वारा मानवजाति के लिए निर्मित बुनियादी जीवन परिवेश से देखना

जिस तरह से वह मनुष्यजाति के जीवित बचे रहने के लिए इन पाँच बुनियादी स्थितियों से निपटा था, उससे क्या तुम, मनुष्यजाति के लिए परमेश्वर की आपूर्ति को देख सकते हो? (हाँ।) अर्थात् परमेश्वर ने मनुष्यजाति के जीवित बचे रहने के लि…

2018-08-06 16:09:08

परमेश्वर सभी चीजों की आपूर्ति करने और मानवजाति की उत्तरजीविता को बनाए रखने के लिए अपने सर्वशक्तिमान और बुद्धिमान तरीकों का उपयोग करता है

हमने अभी-अभी किस बारे में बात की? शुरूआत में, हमने मनुष्यजाति के रहने के पर्यावरण के बारे में और जो कुछ परमेश्वर ने किया, तैयार किया, और इस पर्यावरण के लिए वह निपटा उस बारे में, और साथ ही परमेश्वर के द्वारा मनुष्यजाति के…

2018-08-06 17:02:25

हर प्रकार का शाकाहारी भोजन जो परमेश्वर मानवजाति के लिए बनाता है

हमने अभी-अभी समग्र पर्यावरण के एक भाग के बारे में बात की थी, अर्थात्, मनुष्य के जीवित बचे रहने के लिए उन ज़रूरी स्थितियों की जिन्हें परमेश्वर ने मनुष्यजाति के लिए तैयार किया था जबसे उसने संसार को बनाया था। हमने बस पाँच च…

2018-08-06 16:29:40

परमेश्वर ने विभिन्न जातियों के बीच सीमाएं खींची हैं

…परमेश्वर ने उनकी सीमा रेखाओं को इस तरह से क्यों खींचा? यह सचमुच में पूरी मानवजाति के लिए महत्वपूर्ण है-सचमुच में महत्वपूर्ण है! परमेश्वर ने हर किस्म के जीवित प्राणी के लिए दायरे की रेखाओं को खींचा है और हर प्रकार के मान…

2018-08-06 17:52:05

परमेश्वर मानवजाति के लिए माँस, जल संसाधन और औषधीय पौधे तैयार करता है

अनाज, फल और सब्जियाँ, सभी प्रकार के मेवे सभी शाकाहारी खाद्य पदार्थ हैं। भले ही वे शाकाहारी खाद्य पदार्थ हैं, फिर भी उनमें मानव शरीर की आवश्यकताओं को तृप्त करने के लिए पर्याप्त पोषक तत्व हैं। हालाँकि, परमेश्वर ने नहीं कहा…

2018-08-06 16:37:41

परमेश्वर विभिन्न भौगोलिक परिवेशों के लिए सीमाएँ बनाता है

आज मैं उस विषय के बारे में बात करने जा रहा हूँ कि कैसे इस प्रकार के नियम जिन्हें परमेश्वर समस्त जीवों के लिए लाया है, पूरी मानवजाति का पालन पोषण करते हैं। यह एक बहुत बड़ा विषय है, अतः हम इसे कई हिस्सों में विभाजित कर सकते…

2018-08-06 17:24:22

परमेश्वर ने विभिन्न पक्षियों और पशुओं, मछलियों, कीड़े-मकोड़ों, और सभी पौधों के लिए सीमाएँ खींची।

…… इन सीमाओं के कारण जिन्हें परमेश्वर ने बनाया है, विभिन्न भूभागों ने जीवित रहने के लिए अलग-अलग वातावरण को उत्पन्न किया है, और जीवित रहने के लिए ये वातावरण विभिन्न प्रकार के पक्षियों और पशुओं के लिए सुविधाजनक रहे हैं साथ…

2018-08-06 17:30:52

मानवजाति की विभिन्न जीवनशैलियों से सीमाओं को विकसित किया गया है।

परमेश्वर ने सभी प्राणियों का सृजन किया और उनके लिए सीमाएँ निर्धारित की; उनके मध्य उसने सभी प्रकार के जीवित प्राणियों का पालन पोषण किया। इसी दौरान उसने मनुष्यों के लिए जीवित रहने की विभिन्न पद्धतियों को भी तैयार किया, अतः…

2018-08-06 17:41:13

परमेश्वर मनुष्य को जीवित रहने के लिए एक स्थायी वातावरण देने के लिए सभी चीज़ों के मध्य सम्बन्धों को संतुलित करता है

… आगे, हम अन्य पहलू के बारे में बात करने जा रहे हैं, जो एक तरीका है जिससे परमेश्वर हर चीज़ का नियंत्रण करता है। इस तरह से उसने सभी चीज़ों की सृष्टि करने के बाद, उनके मध्य सम्बन्धों को सन्तुलित किया। यह भी तुम लोगों के लिए …

2018-08-06 18:05:58