सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

वह संकल्प जो मोआब की संतानों के पास होना चाहिए

I

मोआब की संतानों से नहीं कोई

अधिक पिछड़ा और भ्रष्ट।

वो परमेश्वर को स्वीकारते नहीं।

इसलिए केवल जब इन पर पाई जा सके विजय,

केवल जब ये कर सकें प्रेम परमेश्वर को,

केवल जब वो कर सकें उसकी स्तुति,

तभी होगी वो गवाही विजय की, विजय की।

अंत में तू कहेगा, "हम हैं शापित,

हम हैं संतान मोअब की।

इसे तो हम बदल, बदल सकते नहीं,

क्योंकि ये थी आज्ञा परमेश्वर की, परमेश्वर की।

लेकिन हमारा जीना और ज्ञान बदल सकता है,

परमेश्वर को संतुष्ट करने के लिए हम हैं संकल्पित,

परमेश्वर को संतुष्ट करने के लिए हम हैं संकल्पित।"

II

ये सच है कि तुम लोग पतरस नहीं,

लेकिन जी सकते हो तुम पतरस की छवि,

अय्यूब और पतरस के समान दे सकते हो गवाही।

यही है सबसे बड़ी गवाही।

अंत में तू कहेगा, "हम तो इस्राएली नहीं।

हम हैं त्यागी गईं संतानें मोअब की।

हम परमेश्वर के आशीषों के योग्य नहीं।"

अंत में तू कहेगा, "हम हैं शापित,

हम हैं संतान मोअब की।

इसे तो हम बदल सकते नहीं,

क्योंकि ये थी आज्ञा परमेश्वर की, परमेश्वर की।

लेकिन हमारा जीना और ज्ञान बदल सकता है,

परमेश्वर को संतुष्ट करने के लिए हम हैं संकल्पित,

परमेश्वर को संतुष्ट करने के लिए हम हैं संकल्पित।"

III

"हम पतरस नहीं, हममें उसकी योग्यता नहीं।

हम अय्यूब नहीं, हममें पौलुस का संकल्प नहीं।

परमेश्वर को जितना समर्पण किया पौलुस ने,

पौलुस ने उतना हम कर सकते नहीं, कर सकते नहीं।

लेकिन फिर भी आज हमें उठाया है परमेश्वर ने, परमेश्वर ने।

तो हमें संतुष्ट करना है परमेश्वर को, परमेश्वर को, और हैं हम तैयार भी।

हम योग्य नहीं, लेकिन संकल्पित हैं हम फिर भी,

और हैं हम तैयार, और हैं हम तैयार।"

अंत में तू कहेगा, "हम हैं शापित,

हम हैं संतान मोअब की।

इसे तो हम बदल, बदल सकते नहीं,

क्योंकि ये थी आज्ञा परमेश्वर की, परमेश्वर की।

लेकिन हमारा जीना और ज्ञान बदल सकता है,

परमेश्वर को संतुष्ट करने के लिए हम हैं संकल्पित,

परमेश्वर को संतुष्ट करने के लिए हम हैं संकल्पित।"

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला:परमेश्वर का देहधारण विशेष रूप से उसके वचन को व्यक्त करने के लिए है

अगला:व्यवहारिक परमेश्वर में आस्था से बहुत लाभ हैं

शायद आपको पसंद आये