सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

211 शैतान के हाथों इंसान के दूषण के परिणाम का सत्य

I

बरसों से भरोसा करते लोग जिन विचारों पर

जीते चले आये हैं, दूषित कर दिया उनके दिलों को उन विचारों ने।

इंसान को उन विचारों ने, कपटी, कायर और नीच बना दिया है।

न इच्छाशक्ति है न संकल्प है इंसान में,

बस लालची, अहंकारी और हठीला बन गया है

ऊँचा खुद को उठा नहीं सकता इतना कमज़ोर है

अंधेरों के असर से, अंधेरों की शक्तियों से,

खुद को आज़ाद कर नहीं सकता इंसान।

II

गले हुए विचार हैं और जीवन उनके।

परमेश्वर में आस्था पर ख़्याल उसके

सचमुच बदसूरत हैं, सहे जा नहीं सकते।

बर्दाश्त के इतने बाहर हैं, सुने जा नहीं सकते।

न इच्छाशक्ति है न संकल्प है इंसान में,

बस लालची, अहंकारी और हठीला बन गया है,

ऊँचा खुद को उठा नहीं सकता, इतना कमज़ोर है

अंधेरों के असर से, अंधेरों की शक्तियों से,

खुद को आज़ाद कर नहीं सकता इंसान।

III

डरपोक है, नीच है, कमज़ोर है इंसान,

अँधेरों की शक्तियों से नफ़रत नहीं करता वो।

प्रेम नहीं है उसमें रोशनी और सत्य के लिये,

बल्कि अपनी पूरी ताकत से उन्हें दूर भगा देता है इंसान, इंसान।

न इच्छाशक्ति है न संकल्प है इंसान में,

बस लालची, अहंकारी और हठीला बन गया है,

ऊँचा खुद को उठा नहीं सकता, इतना कमज़ोर है

अंधेरों के असर से, अंधेरों की शक्तियों से,

खुद को आज़ाद कर नहीं सकता इंसान।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला:इंसान वो नहीं रहा जैसा परमेश्वर चाहता है

अगला:क्या तुमने सर्वशक्तिमान को आहें भरते सुना है?

वचन देह में प्रकट होता है अंत के दिनों के मसीह के कथन (संकलन) मेमने ने पुस्तक को खोला न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है राज्य के सुसमाचार पर सर्वशक्तिमान परमेश्वर के उत्कृष्ट वचन -संकलन परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) राज्य के सुसमाचार पर उत्कृष्ट प्रश्न और उत्तर (संकलन) मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया सर्वशक्तिमान परमेश्वर, अंतिम दिनों के मसीह, के उत्कृष्ट वचन